शनिवार, 10 दिसंबर 2011

‘व्हाई दिस कोलाब्रेसन’


मित्रो
'कोलाब्रेसन'  आजकल  सर्वत्र  विद्यमान है.  व्यापार में,  उद्योग में, राजनीति में,  पार्टियों में,  'यत्र तत्र सर्वत्र'  है  'कोलाब्रेसन'.   यदि कहीं कम दिखता है,  तो शायद  'मित्रता'  में.   बीमार  'सरकारी उपक्रमोंके  'मोडिफिकेसनमें यह  प्रायदेखा  जाता है.  'एयर इंडियाआदि  देर,  सवेर  इसकी 'जद'  में  पहुँचने वाले है.  जब  इसके "व्हाई  दिस कोलाबेरीकोलाबेरीकी तरह फैलने के आसार दिख रहे हैं, तो कुछ 'टूटे फूटे' से उदगार निकलते हैं --

व्हाई दिस कोलाब्रेसनव्हाई दिस कोलाब्रेसन.
देशी 'फर्म' या बिदेशी में,
फॉर  'बैटर फार्मेसन'-?
ऑर, फॉर - ‘सेल्फ फंड ज़नरेसन

व्हाई दिस, कोलाब्रेसनव्हाई दिस कोलाब्रेसन,  
'देश' में हो या प्रदेश  में ,
 ईस्ट में या  वेस्ट यू.पीमें,
फार  'बैटरस्तेव्लाइज़ेसन ?
ऑरफार – ‘सेल्फ ओर्गनाइज़ेसन’.

व्हाई दिस, कोलाब्रेसनव्हाई दिस कोलाब्रेसन,  
पार्टी में हो या 'संगठन' में,
 कमेटियों में, या नियमों में,
फॉर - बैटर परफार्मेसन ?
ऑर फॉर - 'सेल्फ ज़नरेसन'.

ऑरइट फॉर 'नेसन',
 इट  सुड  बी 'फॉर नेसन' - 'फॉर नेसन


9 टिप्‍पणियां:

  1. वाह!!
    मजेदार....

    हर जगह है कोलावेरी..... कोलावेरी......

    उत्तर देंहटाएं
  2. 'बेनामी'जी , देवू जी , अतुल जी धन्यवाद.

    उत्तर देंहटाएं
  3. बढ़िया है.... यहाँ देश की किसे पड़ी है...सब अपने फायदे साधने में जुटे हैं......

    उत्तर देंहटाएं
  4. डा. मोनिकाजी , नवीन जी, साभार धन्यवाद.

    उत्तर देंहटाएं